Monday, November 13, 2017

अमीर कैसे बने। rich dad poor dad .

क्यों कुछ लोग अमीर बन पाते हैं और क्यों ज्यादातर लोग गरीब या माध्यम वर्ग के ही रह  जाते हैं।

महेश नाम का एक लड़का था जिसको दो लोग सलाह देते थे। पहला बहुत पढ़ा लिखा था और दूसरा कम पढ़ा लिखा था। दोनों परिश्रमी थे लेकिन दोनों का सोच बहुत ही अलग थी। पहला महेश को कहता की पैसा फसाद की जड़ है लेकिन दूसरा कहता की पैसा ना होना फसाद की जड़ है। पहला महँगी चीजों के बारे में सोचने से मना करता था और कहता था यह हमारे हैसियत से बाहर है जबकि दूसरा कहता था की वह महँगी चीजों के बारे में सोचे और उसे पाने का प्रयत्न करे , ये करने से उसका दिमाग तेज होगा और नए - नए उपाय भी मिलेंगे। पहला कहता तू खूब पढ़ और मेहनत कर ताकि तुझे बड़ी कंपनी में नौकरी लग जाये जबकि दूसरा कहता तू खूब पढ़ और मेहनत कर ताकि खुद की कंपनी खोल कर दूसरों को नौकरी दे सके। महेश बहुत ही समझदार था , उसने दोनों की बातें सुनी और दूसरे वाले की बात को अपनी जिंदगी में लागू किया और वह एक दिन बहुत बड़ा कंपनी का मालिक बन गया।
उसने जो अपने जिंदगी में अपनाया वो निम्नलिखित है -
अपने पैसे को ऐसे जगह खर्च करें जहाँ से आपको फायदा हो न की ऐसे जगह जहाँ नुकसान हो -
कुछ लोग ऐसे होते हैं जो अपने पैसे को नए कपड़े , जूते ,चश्मा आदि खरीदने में खर्च कर देते हैं जो उनके लिए बाद में नुकसानदायक होता है जबकि समझदार लोग अपने पैसे को ऐसे जगह लगते हैं जहाँ से उन्हें फायदा होता है। जैसे - रियल स्टेट , बोंड या खुद का स्टेटस बढ़ने के लिए आदि।
आपको जो सैलरी मिले उसमे से पहले कुछ पैसा जमा करें और जो बचे उसी में से खर्च करें - मान लीजिये आपका महीने की सैलरी 10000 रु मिल रही है तो इसमें से 6000 रु इन्वेस्ट करे और जो बचे उसी में से खर्च करें।

No comments:

Post a Comment