Monday, December 18, 2017

समय का सदुपयोग और बचत कैसे करें। HOW TO USE AND SAVE TIME IN HINDI.

जो लोग समय का कद्र नहीं करते , दुनिया उनका कद्र नहीं करती। यहाँ तक की वो खुद अपनी ही नजर में गिर जाते हैं। समय से बलवान दुनिया में कोई भी चीज नहीं होता , दुनिया में क्या पूरी ब्रह्माण्ड में इससे बलवान कुछ नहीं हैं। जिसने समय का सही तरीके से सदुपयोग करने का ढंग सीख लिया , उसके लिए इस ब्रह्माण्ड में कोई भी चीज को पाना असंभव नहीं होगा।
 कहा गया है कि तब पछताए होय क्या जब चिड़िया चुग गयी खेत अर्थात जब समय चला जाता है तो वह फिर लौटकर वापिस नहीं आता , उस समय हमारे पास पछतावे के अलावा कुछ नहीं रहता। बहुत से लोग बहुत कोशिश करने के बावजूद भी समय की बचत नहीं कर पाते क्योंकि उनके पास समय का सदुपयोग व बचत करने का सटीक तरीका नहीं होता।
समय का सदुपयोग और बचत करने का निम्नलिखित तरीका है -
हर कार्य करने का समय सारणी बनाएं - सबसे पहले यह तय करें की कौन सा कार्य कब करना है। जब आप ऐसा करने में सफल होते हैं तो आपके अंदर यह उलझन नहीं रहती है की कौन सा कार्य कब करना है जिसके कारण आप किसी कार्य को पूरी ताकत व ऊर्जा के साथ कर पाएंगे। जब आप किसी कार्य को पूरी ताकत व ऊर्जा के साथ करेंगे तो समय बचेगा ही।
समूह बनाकर कार्य करें - अगर आपके पास समूह बनाकर कार्य करने की क्षमता है तो समझिये कि आपसे ज्यादा समय की बचत कोई नहीं कर पाएगा। जहाँ एक व्यक्ति किसी कार्य को पांच दिन में पूरा करेगा वही पांच व्यक्ति मिलकर उसी कार्य को एक दिन में कर लेंगे। इससे आपका चार दिन का बचत होगा। इसलिए हो सके तो ज्यादा से ज्यादा समूह बनाकर कार्य करने का प्रयत्न करें।
कार्य को इंटरेस्टिंग बनाकर करें - कोई भी कार्य करें उसे इंटरेस्टिंग बनाकर करें अर्थात मजेदार बनाकर करें। ऐसा करने से आपका कार्य बहुत तेजी से होगा , जिससे आपका समय की बचत होगी।
कार्य से सम्बंधित ऐसे यंत्रों का प्रयोग करें जो कार्य को तेजी से करने में सहायक हो - आजकल बहुत सारे ऐसे औजार आ गए हैं जो मिनटों का काम सेकंड में कर दे रहें हैं। इसलिए ज्यादा से ज्यादा ऐसे यन्त्र का प्रयोग करें जो आपके समय को बचाता हो।
कार्य को टालें नहीं - कहा गया है , जो कार्य कल करना है उसे आज ही करो और जो आज करना है उसे अभी। नहीं तो जब समय निकल जायेगा तो आप उस कार्य को नहीं कर पाएंगे। इसलिए समय बचाने के लिए कार्य को टालने की आदत छोड़ दें।
कार्य को पूरी मेहनत , लगन व ईमानदारी के साथ करें - किसी भी कार्य को पूरी मेहनत , लगन और ईमानदारीपूर्वक करिए। मेहनत , लगन व ईमानदारी से किया गया कार्य कभी व्यर्थ नहीं जाता।
दोस्तों कैसा यह लेख , अपने कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं तथा लेख से सम्बंधित कोई भी सवाल आपके मन में चल रहा है , उसे जरूर बताएं।
                                                                                                              धन्यवाद्.........

No comments:

Post a Comment